Monday, February 17, 2020
Home > India > दिल्ली चुनाव खत्म होते ही बड़ी खबर : बीजेपी शासित इस राज्य में बंद किए जाएंगे सारे सरकारी मदरसे !

दिल्ली चुनाव खत्म होते ही बड़ी खबर : बीजेपी शासित इस राज्य में बंद किए जाएंगे सारे सरकारी मदरसे !

इस्लामी अध्यात्मवाद व क़ानून के अलावा, अरबी व्याकरण व साहित्य, गणित, तर्कशास्त्र और कभी-कभी प्राकृतिक विज्ञान भी मदरसों में पढाए जाते थे। अध्यापन निःशुल्क था व भोजन, आवास उपलब्ध कराने के अलावा चिकित्सकीय देखभाल भी की जाती थी। शिक्षण सामान्यतः आंगन में होता था व इसमें मुख्यतः पाठ्य-पुस्तकों व शिक्षक के उपदेशों को कंठस्थ करना होता था। शिक्षक अपने विद्यार्थियों को प्रमाण-पत्र जारी करता था, जिसमें उसके शब्दों को दोहराने की अनुमति होती थी।

शहज़ादे व अमीर परिवार भवनों के निर्माण और विद्यार्थियों व शिक्षकों को वृत्ति देने के लिए दान में धन देते थे। 12वीं शताब्दी के अंत तक दमिश्क, बग़दाद, मोसल व अधिकांश अन्य मुस्लिम शहरों में मदरसे फलफूल रहे थे।

असम में बीजेपी शासित सरकार ने राज्य सरकार द्वारा संचालित मदरसों को बंद करने फैसला किया है. सरकार अब इन संस्थानों को स्कूलों में तब्दील करने जा रही है और अब वहां छात्रों को सामान्य कोर्स पढ़ाया जाएगा. असम के शिक्षा मंत्री हेमंत बिसवा सरमा ने यह बात समाचारा एजेंसी पीटीआई से कही.

असम के शिक्षा मंत्री ने कहा, ‘सरकारी फंड से छात्रों को धार्मिक किताबें पढ़ाई जाती है जबकि इन संस्थाओं को धार्मिक किताबें उपलब्ध करवाना सरकार का काम नहीं है.’

हेमंत बिसवा सरमा ने कहा, ‘राज्य के मदरसों को सेकेंड्री स्कूलों में बदला जाएगा और यह काम तीन से चार महीने में पूरा कर लिया जाएगा. ‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *