Monday, February 17, 2020
Home > India > सशर्त जमानत पर रिहा हुए भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर संविधान की कॉपी लेकर पहुंचे जामा मस्जिद!

सशर्त जमानत पर रिहा हुए भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर संविधान की कॉपी लेकर पहुंचे जामा मस्जिद!

नई दिल्ली: सीएए और एनआरसी के विरोध में आज जामा मस्जिद में हो रहे प्रदर्शन में चंद्रशेखर शामिल हुए। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर गुरुवार को ही शर्तों के साथ जमानत पर रिहा हुए हैं। प्रदर्शन में पहुंचे चंद्रशेखर ने कहा कि कोर्ट की सभी शर्तों को मानेंगे और आज शाम तक दिल्ली से वापस लौट जाएंगे। भीम आर्मी चीफ ने मीडिया के सामने भारतीय संविधान की कॉपी दिखाई और कहा कि वह आज शाम ही सहारनपुर लौट रहे हैं।

मीडिया के सामने दिखाया भारत का संविधान:
मीडिया कैमरे के सामने संविधान को दिखाते हुए भीम आर्मी चीफ ने कहा कि वह देश के संविधान को सर्वोपरि मानते हैं। उन्होंने जामा मस्जिद प्रदर्शन में शामिल होने पर कहा कि मैं अपने परिवार के लोगों से मिलने यहां आया हूं। यही वो जगह है जहां मुझे अपने परिवार से दूर किया गया था। मैं उसी परिवार से मिलने आया हूं।

सशर्त जमानत पर बाहर हैं भीम आर्मी चीफ:
दिल्ली की एक अदालत ने भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को बुधवार को जमानत दी थी। आजाद पर जामा मस्जिद इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के दौरान भीड़ को उकसाने का आरोप है। उन पर यह आरोप भी है कि उन्होंने बिना इजाजत मार्च निकाला। 20 दिसंबर को मार्च निकालने के अगले ही दिन 21 दिसंबर को उन्हें हिरासत में लिया गया था।

16 फरवरी तक दिल्ली से बाहर रहने का आदेश:
अडिशनल सेशन जज ने आजाद को कुछ शर्तों के साथ जमानत दी। कोर्ट ने उन्हें 16 फरवरी तक दिल्ली में किसी तरह का प्रदर्शन न करने के आदेश दिए हैं। जज ने आजाद को 25 हजार रुपये का जमानत बॉन्ड भी पेश करने को कहा। अदालत ने यह भी कहा कि सहारनपुर जाने से पहले आजाद जामा मस्जिद समेत दिल्ली में कही भी जाना चाहते हैं तो पुलिस उन्हें एस्कॉर्ट करेगी। जज ने कहा कि विशेष परिस्थितियों में विशेष शर्तों की जरूरत होती है। फैसला सुनाए जाने के दौरान आजाद की तरफ से पेश हुए वकील ने कहा कि भीम आर्मी के प्रमुख को उत्तर प्रदेश में खतरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *