Home > राष्ट्रीय > युवराज सिंह के पिता योगराज पर भड़के DD न्यज के अशोक श्रीवास्तव, बोले- मैं पत्रकार बाद में हूँ, पहले हिन्दू हूँ

युवराज सिंह के पिता योगराज पर भड़के DD न्यज के अशोक श्रीवास्तव, बोले- मैं पत्रकार बाद में हूँ, पहले हिन्दू हूँ

नई दिल्ली: कुछ दिन पहले पंजाबी एक्टर और क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह के भाषण का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था है। इसमें वह हिंदू महिलाओं पर बेहद आपत्तिजनक बातें कहते नजर आ रहे थे। उनके इस बयान से आक्रोशित लोगों ने उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की थी।
कई लोगो ने योगराज के भाषण को निंदनीय, भड़काऊ, अपमानजनक और घृणास्पद करार दिया था। योगराज अपने भाषण में कहते नजर आ रहे थे, ‘ये हिंदू गद्दार हैं, सौ साल मुगलों की गुलामी की।’ इतना ही नहीं, उन्होंने महिलाओं को लेकर भी विवादास्पद बयान दिया था।

हालांकि योगराज सिंह को उनके भड़काऊ वयान का खामियाजा भुगतना पड़ा रहा है। दरअसल योगराज सिंह को फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री ने अपनी फिल्म ‘द कश्मीरी फाइल्स’ से हटाया दिया है। फिल्म में योगराज सिंह की जगह अब पुनीत इस्सर किरदार निभाएंगे।

योगराज सिंह के मुश्किलों का सिलसिला यही नही रुका, उनके बेटे युराज सिंह ने भी उनके वयान से पल्ला झाड़ लिया और युवराज ने किसान आंदोलन के समर्थन में अपना जन्मदिन नही मनाने का फैसला किया। हालांकि अब उन्हें अपनी गलती का अहसास हो गया है। Yograj Singh ने एक शो के दौरान अपनी उक्त विवादित बयान पर माफी मांगी है और माना है कि उन्हें माफी मांगना भी चाहिए। उन्होंने कहा, कई बार मुंह से गलत बात निकल जाती है।

योगराज के इस विवादास्पद वयान की DD न्यूज़ के पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने भी कड़ी आलोचना की। अशोक श्रीवास्तव ने लिखा, “युवराज सिंह कह रहे हैं कि किसान_आंदोलन के समर्थन में आज अपना जन्मदिन नहीं मनाएंगे !
ठीक भी है! जब जन्मदाता बेशर्मी की सीमा लांघ जाए, तो कोई जन्मदिन कैसे मनाए !
Yuvi ईश्वर आपको लंबी आयु और आपके पिता को सदबुद्धि दें।”

अशोक श्रीवास्तव याचक नही रुके आज उन्होंने एक दूसरा ट्वीट किया और भावुक शब्दो के साथ लिखा, “वो बेशर्म हैं जो माँ-बेटियों को टके-टके में बिकने वाले बयानों पर खामोश रहे! मेरे इस ट्वीट से जिन्हें आपत्ति है उन्हें बता दूं कि मैं पत्रकार बाद में हूँ,पहले हिन्दू हूँ।और लानत देता हूँ उन पर जो ऐसा बयान सुनकर भी योगराज के बयान की निंदा न करके”किसान आंदोलन” का कार्ड खेल रहे हैं!”

अशोक श्रीवास्तव का ये पोस्ट कह वायरल हो रहा है और लोग उनकी जमकर तारीफ भज कर रहे है। राम वशिष्ठ नाम के एक यूजर ने लिखा, “Salute to you Sir. बहुत ही संतुलित तरीके से , स्पष्टता के साथ आपने जवाब दिया है , अब जिनको मिर्ची लग रही है तो लगती रहे , सच तो यही है जो आपने लिखा है ।”