Home > राष्ट्रीय > नूपुर शर्मा को मिला पाकिस्तानी पत्रकार का साथ, कहा- तकलीफ है तो हटा दो हदीस से वो बात

नूपुर शर्मा को मिला पाकिस्तानी पत्रकार का साथ, कहा- तकलीफ है तो हटा दो हदीस से वो बात

पैगंबर मोहम्मद को लेकर बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के बयान के बाद विवाद जारी है। बता दें कि इस्लाम और पैगंबर को लेकर नूपुर ने ऐसा कुछ विवादित कह दिया था कि पार्टी ने उन्हें निष्कासित कर दिया है। बीजेपी ने दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता नवीन कुमार जिंदल को भी निष्कासित कर दिया है। इस मामले पर पाकिस्तानी मूल के पत्रकार तहा सिद्दीकी का एक बयान वायरल हो रहा है।

पाकिस्तानी पत्रकार तहा ने एक ट्वीट में कहा है कि आयशा के 9 साल की उम्र में मोहम्मद से शादी करने को लेकर ‘सत्यापित’ हदीसों का हवाला देने के लिए भारतीय जनता पार्टी और नूपुर शर्मा पर हमला करने के बजाए मुस्लिम नेताओं को एक साथ आना चाहिए और अगर गलत लिखा है तो उसे हटा देना चाहिए। लेकिन अगर यह सच नहीं है तो कोई भी मोहम्मद पर बाल विवाह करने का आरोप नहीं लगा सकता है।

तहा के इस ट्वीट के बाद मामला एक बार फिर गर्मा गया है। पाकिस्तान के कई लोगों ने उन्हें अल्लाह से डरने की चेतावनी दी है तो कइयों ने उन्हें कुरान और हदीस पढ़ने और मोहम्मद को समझने की सलाह दी है।

कुछ लोगों ने यह भी कहा है कि मौजूदा वक्त में गैर-मुसलमानों द्वारा प्रचारित इस्लाम के खिलाफ असंख्य आलोचनाएं हैं और ऐसे में नूपुर शर्मा पर हमला करने के बजाए हदीस को सत्यापित किया जाना चाहिए। लोगों ने कहा है कि मोहम्मद के बारे में सही जानकारी दुनिया के सामने आनी चाहिए।

नीदरलैंड के सांसद आए नूपुर के सपोर्ट में
इससे पहले नीदरलैंड के दक्षिणपंथी सांसद गीर्ट विल्डर्स ने कहा था कि तुष्टीकरण कभी काम नहीं अता है। यह सिर्फ चीजों को और खराब करेगा। इसलिए भारत के मेरे प्यारे दोस्तों, इस्लामिक देशों से डरो मत। आजादी के लिए खड़े हो जाओ और अपने नेता नूपुर शर्मा का बचाव करने में गर्व और दृढ़ रहो, जिन्होंने मोहम्मद के बारे में सच बोला था।

उन्होंने आगे कहा था कि यह हास्यास्पद है कि अरब और इस्लामी देश भारतीय नेता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद के बारे में सच बोलने के लिए नाराज हैं। उन्होंने वास्तव में आयशा से शादी की थी, जब वह छह साल की थी। भारत माफी क्यों मांग रहा है?

Source: Hindustan