You are here
Home > Politics

सवर्ण आरक्षण: सवर्णो के खिलाफ SC/ST को भड़काने का काम शुरू, जिग्नेश मेवानी बोले- दलितों का आरक्षण ख़त्म करने वाला फैसला..

आर्थिक रूप से कमजोर गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण दिलवाने के लिए मोदी सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में बिल पेश किया, इस बिल का लगभग सभी विपक्षी पार्टियों ने समर्थन किया, जिसकी वजह से बिल भारी बहुमत से पास हो गया, अब इस बिल पर राज्यसभा में चर्चा चल रही है, जहाँ कांग्रेस, सपा और बीजू दल ने अभी तक इस बिल का समर्थन किया है. लेकिन लोकसभा में बिल के पास होने के बाद से ही दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवानी सक्रीय हो गए हैं.

गरीब सवर्णों को आरक्षण मिलने के बाद अब जिग्नेश मेवानी तिलमिला गए हैं और अब सवर्णों के खिलाफ दलितों-पिछड़ों को भड़काकर देश में दंगा फैलाने जैसा माहौल बना रहे हैं. इस मामलें को लेकर आज जिग्नेश मेवानी ने ट्वीट में लिखा – RSS के लोगों से बात हुई- भाजपा 10% ग़रीबों को आरक्षण क्यों दे रही है, जो पता चला वो बेहद ख़तरनाक है। RSS जाति आरक्षण के हमेशा से ख़िलाफ़ रही है। अभी पहले चरण में संविधान संशोधन करके आर्थिक आधार शुरू करेंगे। फिर SC, ST और OBC का सारा आरक्षण ख़त्म करके केवल आर्थिक आधार रखेंगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोदी सरकार ने गरीब सवर्णों को जो 10 फीसदी आरक्षण दिया है, वो अलग से दिया है, इसमें जातिगत आरक्षण के कोटे से कोई कटौती नहीं की जायेगी, यानी जातिगत आरक्षण 49.5% ही रहेगा, दूसरी बात ये है कि जिग्नेश मेवानी जो कह रहे हैं मेरी आरएसएस के लोगों से बात हुयी है, ये बात बिल्कुल गलत लगती है, क्योंकि जिग्नेस मेवानी आरएसएस के धुर विरोधी हैं, हमेशा आरएसएस पर निशाना साधते हैं. तो इस मामलें पर कैसे बात कर लेंगें.

इसके अलावा जिग्नेश मेवानी दलितों में अपनी अच्छी पैठ बना चुके हैं, उनका ट्वीट देखकर दलित सोंचेंगें जिग्नेश मेवानी जो कह रहा है, ये सही कह रहा होगा कि मोदी आने वाले दिनों में हमारा आरक्षण काट लेंगें, इस तरह से अपने आरक्षण को बचाने के लिए दलित भाई सडको पर उतरेंगें, दंगा मचायेंगें और जिग्नेश मेवानी जैसे लोग साइड में खड़े होकर मजे लेंगें, इसका सबसे बड़ा उदाहरण 2 अप्रैल 2018 है.

Loading...

Leave a Reply

Top