You are here
Home > Politics

JNU मामला: केजरीवाल सरकार ने किया ऐसा काम को भड़क उठे कपिल मिश्रा, बोले- देशद्रोहियों की ढाल बने केजरीवाल

नई दिल्ली, 19 जनवरी: दिल्ली की जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी (JNU) में 9 फ़रवरी 2016 को लगे देशविरोधी नारे के मामलें में अब नया मोड़ आ गया है. जी हैं, क्योंकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की भी अब इस मामलें में बाकायदा इंट्री हो चुकी है!

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शनिवार को पटियाला हाउस कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की JNU मामले में दाखिल चार्जशीट पर संज्ञान लेने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि क्योंकि अभी तक देशद्रोह की धारा 124A मामलें में दिल्ली सरकार ने मंजूरी नहीं दी है। दिल्ली सरकार मंजूरी देगी तभी कोर्ट चार्जशीट पर संज्ञान लेगी, तब तक आरोपी आजाद घुमेंगें.

दिल्ली पुलिस की चार्जशीट पर दिल्ली सरकार की मंजूरी न मिलने के बाद दिल्ली के करावल नगर से विधायक कपिल मिश्रा ने दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल पर तीखा हमला बोला है!

कपिल मिश्रा ने कहा- केजरीवाल सरकार ने नहीं दी अनुमति, जिसकी वजह से “भारत तेरे टुकड़े होंगे इंशाअल्लाह” बोलेने वाले घूमेंगे आज़ाद, “हर घर से अफ़ज़ल निकलेगा” के नारे लगाने वाले रहेंगे जेल से बाहर, “केजरीवाल बन गए देशद्रोहियों की ढाल दिल्ली याद रखेगी”.

बता दें कि 14 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में 1200 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी, जिसमें, कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 10 आरोपियों के खिलाफ सेक्शन-124A 323,465,471, 143,149,147,120B के तहत चार्जशीट दाखिल कर आरोपी बनाया है. 

दिल्ली पुलिस की इस चार्जशीट के बाद 15 जनवरी को इस मामलें पर पटियाला हाउस कोर्ट सुनवाई करने वाली थी, लेकिन जज के छुट्टी पर जाने के कारण मामलें को 19 जनवरी तक टाल दिया गया, 19 जनवरी को इस मामलें पर पटियाला हाउस कोर्ट ने सुनवाई करने से इनकार कर दिया. क्योंकि अभी तक केजरीवाल ने मंजूरी नहीं दी है!

Loading...

Leave a Reply

Top