You are here
Home > Politics

सर्वे: दिल्‍ली का अगला सीएम बनने की रेस में सबसे आगे है ये बड़े नेता!

बीते साल 2018 के आखिर में देश के पांच राज्य में चुनाव परिणा आए। जिसके बाद अचानक चार बड़े राज्यों की तस्वीर अचानक बदल गई। इनमें से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान राज्य भारतीय जनता पार्टी के हाथ में थे लेकिन सत्ता विरोधी लहर के कारण बीजेपी के हाथों से तीनों राज्य रेत की तरह निकल गए। सर्वे में ऐसी बात पहले ही सामने आ गई थीं। हालांकि अब दिल्ली को लेकर एक सर्वे सामने आया है। जिसमें एंटी इनकमबेंसी जैसा कुछ भी नहीं दिखाई दे रहा है।

इंडिया टुडे के पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज डेटा के मुताबिक, दिल्ली में अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार की लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है। अन्य दलों के नेताओं से अरविंद केजरीवाल लोकप्रियता के मामले में काफी आगे हैं। सर्वेक्षण से पता चलता है कि केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने अक्टूबर के बाद से परफॉरमेंस में दो प्वाइंट आगे थी। जब आखिर बार पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज आयोजित किया गया था।

पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज डेटा के मुताबिक, 47 प्रतिशत वोटर्स ने अक्टूबर में केजरीवाल को बतौर सीएम कैंडीडेट पहली पसंद बताया था। साल बदलने के साथ ही अब, जनवरी 2019 में पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज में 49 परसेंट वोटरों ने माना कि सीएम पद पर केजरीवाल को दूसरा मौका मिलना चाहिए। वहीं, संतुष्टी के आधार पर अक्टूबर में 41 फीसदी लोग केजरीवाल सरकार के साथ थे जबकि इस साल जनवरी ये आंकड़ा बढ़कर 43 परसेंट हो गया।

वहीं, दिल्ली में सीएम पद के लिए लोगों की दूसरी पसंद दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी हैं। हालांकि प्रतिशत के हिसाब से वह केजरीवाल के आगे टिकते नहीं दिखाई पड़ रहे। पिछली बार की तुलना में इस बार सात प्रतिशत का इजाफा हुआ। इस बार दिल्ली की 14 परसेंट जनता ही तिवारी को मुख्यमंत्री पद पर देखना चाहती है। इस सर्वे में एक चौंकाने वाली बात भी है।

सर्वे में सामने आया कि दिल्ली की एक बड़ी आबादी फिर से राज्य की पूर्व सीएम शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री पद पर देखना चाहती है। दिल्ली के 12 प्रतिशत लोग शीला दीक्षित को सीएम बनाना चाहती हैं। जबकि भाजपा के एक और बड़े नेता हर्षवर्धन भी शीला दीक्षित के समान ही सर्वे में पॉपुलैरिटी बटोर रहे हैं। हर्षवर्धन को भी 12 फीसदी लोग बतौर मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं।

हीं, सर्वे में पीएम पद को लेकर भी आंकड़े सामने आए। बीते चुनाव में हार के बाद भी पीएम मोदी की लोकप्रियता बरकरार है। देश के 49 प्रतिशत लोग आगामी लोकसभा चुनाव के बाद मोदी को ही पीएम बनते देखना चाहते हैं। इस सर्वे में राहुल गांधी का भी जिक्र है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ 40 प्रतिशत लोग हैं। जो उन्हें पीएम पद पर देखना चाहते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Top