Home > राष्ट्रीय > आधार कार्ड में नाम की जगह लिख दिया मधु का पांचवां बच्‍चा, स्‍कूल में नही मिला एडमिशन

आधार कार्ड में नाम की जगह लिख दिया मधु का पांचवां बच्‍चा, स्‍कूल में नही मिला एडमिशन

बदायूं की जिलाधिकारी दीपा रंजन का कहना है कि आधार कार्ड बैंक और डाक घर में बनाए जा रहे हैं। ऐसे में बड़ी लापरवाही के चलते इस तरह की गलती प्रकाश में आई है।

वोटर आईडी से लेकर तमाम सरकारी दस्तावेजों में कई तरह की गलतियां देखने को मिलती हैं। ताजा मामला यूपी के बदायूं से सामने आया है। जहां एक बच्चे के आधार कार्ड में नाम की जगह ‘मधु का पांचवां बच्चा’ लिखा मिला। बता दें कि इस गलती की वजह से स्कूल ने बच्चे को दाखिला देने से मना कर दिया है।

दरअसल हैरानी तब हुई जब बच्चे के आधार कार्ड में कोई नंबर भी नहीं था और नाम की जगह ‘मधु का पांचवां बच्चा’ लिखा था। बता दें कि यह मामला बदायूं जिले की बिल्सी तहसील के रायपुर गांव का है। जहां दिनेश नाम के एक शख्स अपनी बच्ची आरती को स्कूल में भर्ती कराने के लिए प्राथमिक विद्यालय पहुंचा था।

वहां बच्चे का जब आधार कार्ड मांगा गया तो दिनेश ने जो आधार कार्ड दिखाया तो उसे देख शिक्षिका ने बच्ची को स्कूल में भर्ती करने से इनकार कर दिया। शिक्षिका ने कहा कि पहले बच्ची का आधार कार्ड सही करवाइए फिर दाखिला लीजिए।

वहीं बदायूं की जिलाधिकारी दीपा रंजन का कहना है कि ‘‘आधार कार्ड बैंक और डाक घर में बन रहे हैं। ऐसे में बड़ी लापरवाही के चलते इस तरह की गलती प्रकाश में आई है। इस तरह की गलती आगे ना हो, इसके लिए बैंक और डाकघर के अधिकारियों को सतर्क किया जाएगा। इसके अलावा लापरवाह और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

गौरतलब है कि आधार कार्ड की तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। बता दें कि सरकारी दस्तावेजों में अक्सर इस तरह की गलतियां देखने को मिलती है। ऐसे में आम लोगों की भी जिम्मेदारी है कि जरूरी कागजात बनवाने के समय कुछ अहम बातों का ख्याल रखें।

बता दें कि आधार कार्ड जब आप बनवाएं तो उस वक्त फार्म में अपने बारे में सही जानकारी भरें। इसके अलावा उसे गौर से चेक करें। फार्म भरने के बाद देखें कि नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि और पता सही है या नहीं। इसकी पड़ताल करने के बाद ही उसे अधिकारी के पास सबमिट करें।