You are here
Home > Politics

आप नेता संजय सिंह ने योगी सरकार पर लगाए मंदिर तोड़ने के आरोप, यूजर्स ने सामने रखी सच्चाई तो हो गई फजीहत..

२०१९ के लोकसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी काफी बढ़ रही है, हर बड़ी पार्टिया अपना कुनबा मजबूत करने के लिए एक भी मौका नहीं छोड़ रही है! बड़ी पार्टियों का ध्यान जहा एक तरफ अपनी गठबंधन को मजबूत बनाने पर है तो वही दूसरी ओर छेत्रिये दल आरोप-प्रत्यारोप के जरिये अपने लिए जगह बनाने की कोशिश कर रहे है! कल समजवादी पार्टी और बसपा के बिच सीटों का बटवारा हुआ और दोनों पार्टियों ने आपसी मतभेद भूलकर २०१९ का चुनाव साथ लड़ने का फैसला किया!

दूसरी ओर अगर बात करे दिल्ली में सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी की तो इनका इतिहास जित का नहीं बल्कि अपने प्रतिनिधि का जमानत जब्त करवाने का रहा है! आम आदमी पार्टी दिल्ली से सटे राज्यों में अपना विस्तार करने का हर संभव प्रयास कर रही है! इसी के मद्देनजर आप नेता संजय सिंह को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है, और संजय सिंह आये दिन बीजेपी पर नए नए आरोप लगाते रहते है!

इस बार संजय सिंह ने यूपी के योगी सरकार पर निशाना साधा और सोशल मीडिया वेबसाइट टवीटर पर एक टूटी हुई मंदिर की तश्वीर पोस्ट कर लिखा- “ये काशी के मंदिर हैं, योगी सरकार ने तहस नहस कर दिया, 12, 13 जन. को अयोध्या से काशी “भाजपा भगाओ-भगवान बचाओ” यात्रा में शामिल हों”

संजय सिंह द्वारा योगी सरकार पर लगाए गए इस आरोप के बाद ट्विटर पर यूजर्स भड़क उठे और संजय सिंह को करारा जबाब दिया! एक यूजर ने लिखा “संजय जी काशी की जनता आपके झूठ और प्रोपेगंडा को अच्छी तरह समझती है। काशी में मंदिर नहीं तोड़े जा रहे बल्कि जिन पौराणिक मंदिरों का अतिक्रमण कर लिया गया था उनका जीर्णोद्धार किया जा रहा है। आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए इस थ्रेड को पढ़ें”

वही किरण सिंह नाम के यूजर ने लिखा “आप जैसे लोग काशी में पैर नही रखियेगा! जो सवर्ण होकर सवर्णो का विरोध कर सकता है वह ब्यक्ति मंदिर में आके मंदिर का भी विरोध कर सकता है”

अनिल सोनी ने जबाब में लिखा “काशी का मूल बाबा विश्वनाथ है, वाकी का निर्माण तो जयादातर भक्ती की कसम आढ मैं अपने सवार्थो की पूर्ती मात्र, कुछ दिल्ली वाले कसम के स्वार्थी सहाकारो की तरह,, काशीपथ का सच”

Loading...

Leave a Reply

Top