Sunday, February 16, 2020
Home > India > CAA पर राजनीति करने वालों को शाह ने दिया करारा जवाब, डंके की चोट पर कही ये बात….

CAA पर राजनीति करने वालों को शाह ने दिया करारा जवाब, डंके की चोट पर कही ये बात….

नागरिकता संशोधन कानून की आड़ पर सियासतदान अपनी राजनीति चमकाने में जुटे हुए हैं. लेकिन इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस पर राजनीति करने वालों को जमकर लताड़ लगाई है.

नई दिल्ली: देशभर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध और प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. लेकिन, इसके अलावा विरोध की तुलना में काफी ज्यादा तादाद में लोग इसका समर्थन भी करते दिखाई दे रहे हैं. उत्तर प्रदेश के लखनऊ में ऐसा ही नजारा देखने को मिला. जहां ‘जन जागरण अभियान’ के तहत CAA के समर्थन में जनसभा आयोजित की गई. इस रैली में केंद्रीय गृहमंत्री ने विरोधियों को आईना दिखाया. आपको अमित शाह की 15 बड़ी बातों से रूबरू करवाते हैं.

  1. ‘CAA पर विरोधी पार्टियां दुष्प्रचार करके और भ्रम फैला रही हैं इसीलिए भाजपा जन जागरण अभियान चला रही है, जो देश को तोड़ने वालों के खिलाफ जन जागृति का अभियान है.’
  2. ‘नरेन्द्र मोदी जी CAA लेकर आए हैं. कांग्रेस, ममता बनर्जी, अखिलेश, मायावती, केजरीवाल सभी इस बिल के खिलाफ भ्रम फैला रहे हैं.’
  3. ‘इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है. मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो. ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ.’
  4. ‘देश में CAA के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे कराए जा रहे हैं. CAA में कहीं पर भी किसी की नागरिकता लेने का कोई प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है.’
  5. ‘इस बिल में किसी की नागरिकता लेने का प्रावधान नहीं है. पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में रहने वाले अल्पसंख्यकों पर वहां अत्याचार हुए, वहां उनके धार्मिक स्थल तोड़े जाते हैं. वो लोग वहां से भारत आए हैं. ऐसे शरणार्थियों को नागरिकता देने का ये बिल है.’
  6. ‘मैं वोट बैंक के लोभी नेताओं को कहना चाहता हूं, आप इनके कैंप में जाइए, कलतक जो सौ-सौ हेक्टेयर के मालिक थे वे आज एक छोटी सी झोपड़ी में परिवार के साथ भीख मांगकर गुजारा कर रहे.’
  7. ‘कांग्रेस के पाप के कारण धर्म के आधार पर भारत के दो टुकड़े हुए. पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों की संख्या कम होती रही. आखिर कहां गए ये लोग? कुछ लोग मार दिए गए, कुछ का जबरन धर्म परिवर्तन किया गया.’
  8. ‘तब से शरणार्थियों के आने का सिलसिला चल रहा है. नरेन्द्र मोदी जी ने वर्षों से प्रताड़ित लोगों को उनके जीवन का नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है.’
  9. ‘मैं आज डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, CAA वापस नहीं होने वाला है’
  10. ‘महात्मा गांधी जी ने 1947 में कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू, सिख भारत आ सकते हैं. उन्हें नागरिकता देना, गौरव देना, भारत सरकार का कर्तव्य होना चाहिए.’
  11. ‘राजस्थान के पिछले विधानसभा में कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में कहा कि पाकिस्तान से आए हिंदुओं, सिखों को नागरिकता दी जाएगी. आप करो तो सही है और मोदी जी करें, तो विरोध करते हो.’
  12. ‘नेहरू जी ने कहा था कि केंद्रीय राहत कोष का उपयोग शरणार्थियों को राहत देने के लिए करना चाहिए. इनको नागरिकता देने के लिए जो जरूरी हो, करना चाहिए, लेकिन कांग्रेस ने कुछ नहीं किया.’
  13. ‘दो साल पहले JNU के अंदर देश विरोधी नारे लगे. मैं जनता से पूछने आया हूं कि जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करे उसको जेल में डालना चाहिए या नहीं? मोदी जी ने उनको जेल में डाला और ये राहुल एंड कंपनी कह रही है कि ये वाणी स्वतंत्रता का अधिकार है.’
  14. ‘अखिलेश बाबू एंड कंपनी सुन लो, हमें जितनी गालियां देनी हैं दो, हमारी पार्टी को जितनी गालियां देनी हैं दो मगर भारत माता के खिलाफ देश में नारे जो लगाएगा उसे जेल में डाला जाएगा.’
  15. ‘कांग्रेस जब तक सत्ता में थी, तब तक अयोध्या में प्रभु श्रीराम का मंदिर नहीं बनने दिया. कोर्ट में कपिल सिब्बल खड़े होकर केस में अड़ंगा लगाते थे. मोदी सरकार बनने के बाद सुप्रीम कोर्ट में केस तेजी से चला और अब अयोध्या में आसमान छूने वाला श्रीराम का मंदिर बनने वाला है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *