Home > राष्ट्रीय > अखिलेश यादव ने ओबीसी के लिए क्या किया है? सुशांत सिन्हा के सवाल ने ओपी राजभर को पानी पिला दिया

अखिलेश यादव ने ओबीसी के लिए क्या किया है? सुशांत सिन्हा के सवाल ने ओपी राजभर को पानी पिला दिया

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओपी राजभर बीजेपी पर जमकर निशाना साध रहे हैं। इन्हीं विषयों को लेकर टीवी इंटरव्यू के दौरान एंकर ने उनसे पूछा कि गठबंधन में आपके साथ ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ओबीसी के लिए क्या किया है? इस सवाल पर ओपी राजभर गोलमोल जवाब देते नजर आए।

टाइम्स नाउ नवभारत चैनल के पत्रकार सुशांत सिन्हा ने ओपी राजभर से पूछा, ” आपकी और स्वामी प्रसाद मौर्य के कहने पर कोई ओबीसी वोटर जाकर अखिलेश यादव को वोट देगा तो आपसे यह भी पूछेगा कि समाजवादी पार्टी ने ओबीसी के लिए क्या 10 कौन से अच्छे काम किए हैं?” ओपी राजभर ने जवाब दिया कि उनको छोड़ देते हैं हम जहां थे उनकी ही बात बताते हैं।

उन्होंने अखिलेश पर पूछे गए सवाल का जवाब न देकर कहा कि बीजेपी दलितों का आरक्षण खत्म कर रही है, जो 1932 में मिला था। एंकर ने कहा, “आज इस चर्चा में हम मान लेते हैं कि बीजेपी ओबीसी विरोधी है। इसी के बाद ओपी राजभर कह रहे हैं कि अखिलेश यादव के पास आ जाओ लेकिन आप यह बताइए कि सपा ने ओबीसी के लिए क्या किया है?” ओपी राजभर ने फिर सवाल पर गोलमोल जवाब देते हुए मायावती का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मैंने मायावती से भी कहा था कि अगर आपने काम किया होता तो ओबीसी समाज आपके साथ होता।

सुशांत सिंह ने अपने ट्विटर एकाउंट से इस वीडियो को शेयर किया है, देखे ये मजेदार वीडियो:

सुशांत ने उनसे पूछा कि तो फिर आज यह मान रहे हैं कि अखिलेश यादव के 10 काम ऐसे नहीं है जो आप यहां पर बता सकें। जो उन्होंने गैर – यादवों या 2 या ओबीसी के लिए किए हों? इस बात को आप स्वीकार कर लीजिए। ओपी राजभर ने कहा कि मैं उनके साथ नहीं था इसलिए मैं उनके काम नहीं बना सकता हूं। सरकार बनने दीजिए तो हम उनके काम बता देंगे। इस दौरान एंकर ने ओपी राजभर को पानी पीने पर मजबूर कर दिया।

पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने इस पर लिखा कि पानी पिला दिए भाई राजभर को। मुकेश नाम के यूज़र ने कमेंट किया कि इस तरह के सवाल आप लोग सत्तापक्ष से क्यों नहीं पूछते हैं? अनुराधा सिंह नाम की एक यूजर कमेंट करती हैं, ” ओपी राजभर जैसे लोग केवल मौकापरस्त होते हैं। इन्हें अपनी जाति के लोगों का विकास करना ही नहीं होता है।”